Contractor Jee

A dedicated blog related to Construction

मार्बल या ग्रेनाइट लगाने में कितना पैसा खर्च लगेगा! (Marble mistri rate)

ग्रेनाइट और मार्बल लगवाने का रेट, कुल खर्च की जानकारी (Marble fitting cost with Rate)

शुरू से ही लोगों में संगमरमर (Marble) के प्रति काफी आकर्षण रहा है, क्योंकि ये किसी स्थान के सौंदर्य मूल्य (Aesthetic Value) को बढ़ाने में मदद करता है। मार्बल और ग्रेनाइट पत्थर का फर्श महंगा होता है, अगर हम इसकी तुलना टाइलों से करें तो। 

आमतौर पर आधुनिक घरों में 'सीढ़ियों के लिए ग्रेनाइट' और 'फर्श में मार्बल' लगवाने की सलाह दी जाती है, जो की 100 से अधिक वर्षों तक चल सकता है। फर्श में मार्बल/ग्रेनाइट लगवाने के दौरान होने वाले खर्च की पुरी जानकारी यहाँ दी गई है।

मार्बल या ग्रेनाइट लगवाने में कितना पैसा खर्च लगेगा?

ग्रेनाइट या मार्बल लगवाने का कितना पैसा लगेगा, ये निर्भर करता है फर्श का एरिया (क्षेत्रफल) और पत्थर की किस्म पर। अगर मार्बल की बात करें तो, इंडिया में इसको लगवाने का न्यूनतम खर्च Rs. 160 प्रति स्क्वायर फीट है -एक सामान्य प्रकार के संगमरमर-पत्थर के लिये। इसमें मार्बल और मिस्त्री का रेट शामिल होता है। इसी प्रकार, ग्रेनाइट (Granite) लगवाने का खर्च Rs. 140 प्रति स्क्वायर फीट है।


मार्बल लगवाने का खर्च (Marble fitting cost in 2021) :

Rs. 160 - 330 प्रति स्क्वायर फीट (मार्बल की कीमत + मिस्त्री का रेट + अन्य खर्चें)

मार्बल लगाने वाला मिस्त्री का रेट (Marble mistri rate):

मार्बल फिटिंग के लिए मिस्त्री का खर्च लगभग 20 से 40 रुपये प्रति स्क्वा. फीट के बीच होती है। इसके अलावे मार्बल पॉलिश (घिसाई) का रेट लगभग 8 से 20 रुपये प्रति स्क्वायर फीट है। इस तरह कुल लेबर रेट 28 से 60 रुपये प्रति स्क्वा. फीट हो जाता है।

मार्बल की कीमत (Marble price list):

Rs. 80 - 250 प्रति स्क्वायर फीट

Marble mistri rate kharch


एक रूम में मार्बल लगवाने का खर्च:

उदाहरण के लिए, 10 x 12 फीट के एरिया का रूम लेते है जिसमें मार्बल लगवाना है।

10 x 12 = 120 स्क्वायर फीट (क्षेत्रफल)

समान्य मार्बल का मूल्य Rs. 120 प्रति स्क्वायर फीट है।

इसलिये, 120 x 120 = 14,400

मिस्त्री/लेबर खर्च 35 रुपये प्रति स्क्वायर फीट मानते हुये, 120 x 35 = 42,00

ग्रेनाइट बॉर्डर 12 स्क्वा. फीट, 12 x 110 = 1320

ग्रेनाइट बॉर्डर फिटिंग रेट (रनिंग फीट में) 25 x 40 = 1000

ग्रेनाइट बॉर्डर का खर्च 1320+1000 = 2320

फिक्सिंग मटेरियल का खर्च:

1 रूम में 4 बैग सीमेंट, 1 बैग वाइट सीमेंट, 25 C.ft रेत लगता है,

सीमेंट 4 x 300 = 1200

वाइट सीमेंट 1 x 900 = 900

रेत 25 x 50 = 1250

1200+900+1250 = 3350

मार्बल+मिस्त्री+ग्रेनाइट बॉर्डर+फिक्सिंग मटेरियल = 14,400+42,00+2320+3350 = Rs. 24270

लगभग 25 हजार खर्च होंगे, 120 स्क्वा. फीट का एक रूम में मार्बल लगवाने में।


ये भी पढ़ें: टाइल्स लगाने में कितना पैसा खर्च लगेगा!

ग्रेनाइट लगवाने का खर्च (Granite fitting cost in 2021) :

Rs. 140 - 280 प्रति स्क्वायर फीट (मार्बल की कीमत + मिस्त्री का रेट + अन्य खर्चें)

किचन के स्लैब या सीढ़ियों में, लगने वाले ग्रेनाइट को फीट करने के अलावे उसके किनारे की घिसाई की भी जरुरत होती है।

ग्रेनाइट लगवाने में विभिन्न प्रकार के खर्च :

ग्रेनाइट की कीमत - Rs. 90 - 180 प्रति स्क्वायर फीट

मिस्त्री का रेट - Rs. 25 - 50 प्रति स्क्वायर फीट

एक किनारे की घिसाई (Single Moulding) - Rs. 35 - 50 प्रति रनिंग फीट

दोनों किनारे की घिसाई (Double Moulding) - Rs. 70 - 100 प्रति रनिंग फीट

टोटल खर्च = Rs. 140 - 280 प्रति स्क्वायर फीट (ग्रेनाइट की कीमत + मिस्त्री का रेट + अन्य खर्चें)


एक सीढ़ी रूम में ग्रेनाइट लगवाने का कितना पैसा खर्च आएगा?

उदाहरण के लिए, 7 x 14 फीट के एरिया का सीढ़ी रूम लेते है जिसमें ग्रेनाइट लगवाना है।

इतने एरिया में स्कार्टिंग, लगभग 20 सीढ़ी स्टेप में करीब 140 स्क्वा. फीट ग्रेनाइट लगेगा (अनुभव पर आधारित),

ग्रेनाइट की कीमत Rs. 110 प्रति स्क्वा. फीट लेते है,

इसलिये, 140 x 110 = 15,400

फिटिंग रेट 30 रुपये प्रति स्क्वायर फीट मानते हुये, 140 x 30 = 42,00

ग्रेनाइट बॉर्डर घिसाई रेट Rs. 40 प्रति रनिंग फीट लेते है,

ग्रेनाइट घिसाई (मौल्डिंग) का खर्च 60 x 40 = 2400

फिक्सिंग मटेरियल का खर्च:

सीमेंट 4 x 300 = 1200

रेत 25 x 50 = 1250

1200+1250 = 2450

ग्रेनाइट+फिटिंग+ग्रेनाइट-घिसाई+फिक्सिंग मटेरियल = 15,400+42,00+2400+2450 = Rs. 24450

लगभग 25 हजार खर्च होंगे, एक सीढ़ी रूम में ग्रेनाइट लगवाने में।

 

ये भी पढ़ें: घर बनाने का कांट्रेक्टर कितना पैसा लेता है!

मार्बल कितने प्रकार के होते है?

प्रसिद्ध मकराना मार्बल राजस्थान के एक छोटे शहर 'मकराना' की खदानों से निकला भारत का सबसे बेहतरीन संगमरमर है। प्रसिद्ध ताजमहल मकराना-मार्बल से ही बना हैं। मार्केट में मकराना मार्बल, इटालियन मार्बल, ब्लैक मार्बल, ग्रीन और पिंक मार्बल आदि उपलब्ध हैं। भारत में राजस्थान, मध्यप्रदेश व बेंगलुरु का मार्बल अच्छा माना जाता है।

घर में कौन सी मार्बल लगवाना चाहिये?

ज्यादातर की पसंद सफ़ेद मार्बल होती है, तो कुछ इटालियन मार्बल, पिंक, ग्रीन और ब्लैक मार्बल को ज्यादा पसंद करते हैं। अगर आपके रूम के दीवारों का रंग गहरा है तो सफ़ेद या हलके रंग का मार्बल इस्तेमाल करना चाहिये।

मार्बल कितने समय तक ख़राब नहीं होता?

संगमरमर (Marble) की फर्श 100 से अधिक वर्षों तक चल सकता है। इस्तेमाल होने पर इनका चमक कम हो जाता है, इसलिये पॉलिश करवाया जाता है जिससे ये फिर नये जैसे दिखने लगेंगे।

कृपया ध्यान दें:

  • मार्बल लगाने की लागत अनुमानित है और विभिन्न क्षेत्रों के अनुसार बदलाव हो सकता है।
  • बड़े शहरों में मार्बल लगाने का खर्च ज्यादा होता है जबकि छोटे शहरों और ग्रामीण एरिया में कम होता है।
  • ज्यादा मात्रा में मार्बल लगवाने पर खर्च में कमी आती है।
  • अगर ग्रेनाइट का किनारा घिसाई (Moulding) कराना हो तब उसका खर्च अलग से लगता है।


संबंधित जानकारियाँ-

आजकल घर बनाने में कितना पैसा लगता है!

इंटीरियर डिज़ाइन वर्क कराने में कितना पैसा लगता है!

एक अच्छे TMT स्टील सरिया की पहचान!

पानी की टंकी/नल आदि लगाने का खर्च!

सुपर बिल्ट-अप और कारपेट एरिया क्या है!

अगर आपके पास कोई प्रश्न है, तो निचे Comment करें। यदि आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं, तो इसे अपने दोस्तों के साथ Share करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ