Contractor Jee

A dedicated blog related to Construction

सुपर बिल्ट-अप और कारपेट एरिया क्या है? Carpet area definition in hindi

जानिये कारपेट और सुपर बिल्ट अप एरिया में क्या अंतर होता है | Carpet vs built up area vs Super built up area in building


फ्लैट खरीदते समय कारपेट एरिया, बिल्ट-अप और सुपर बिल्ट अप एरिया आदि जैसे शब्द आपको कन्फ्यूजन में डाल सकतें हैं। ये सब सुनने में एक जैसे लगते है लेकिन इनमें बहुत बड़ा फर्क होता है। अगर आपको इन शब्दों का मतलब नहीं मालूम तो प्रॉपर्टी डीलर/बिल्डर आपको बेवकूफ भी बना सकतें है।

यहाँ इन सभी शब्दजाल की व्याख्या आसान भाषा में किया गया है आपके लिये।

कारपेट एरिया क्या होता है. (What is carpet area)

जैसा कि नाम से पता चलता है, कारपेट एरिया का मतलब फ्लैट के अन्दर वैसे जगह से है जो कारपेट (कालीन/दरी) बिछाने के लिए इस्तेमाल किया जा सके। दुसरे शब्दों में कहें तो ये फ्लैट के दीवारों की मोटाई को छोड़कर अंदरूनी एरिया होता है। 

carpet area kya hota hai

यही घर में उपयोग होने वाला असली जगह होता है जिसमे बेडरूम, लिविंग रूम, हॉल, किचन, बाथरूम, स्टोर रूम आते है। इसमें बालकनी, लॉबी, छत, लिफ्ट या सीढ़ियों का जगह शामिल नहीं होता।

कारपेट एरिया कैसे कैलकुलेट करें (Carpet area calculation) :

कारपेट एरिया निकालने के लिए फ्लैट के कुल (बिल्ट-अप) एरिया में से दीवार की मोटाई और बालकनी के क्षेत्र को घटाना पड़ता है। आमतौर पर कारपेट एरिया बिल्ट-अप एरिया का 70% होता है। उदाहरण के लिए, अगर एक फ्लैट का बिल्ट-अप एरिया 1000 स्क्वायर फुट है तो उसमें दीवार और बालकनी का जगह घटने पर, कारपेट एरिया 700 स्क्वायर फुट होगा।

फार्मूला:
कारपेट एरिया = बिल्ट-अप एरिया - दीवारों और बालकनी से कवर एरिया।

बिल्ट-अप एरिया क्या होता है. (What is build-up area)

बिल्ट-अप एरिया = कारपेट एरिया + दीवारों और बालकनी से कवर एरिया।
इसमें बेडरूम, लिविंग रूम, हॉल, किचन, बाथरूम के अलावे अंदरुनी दिवार, बरामदा, बालकनी आदि शामिल होते हैं।

built up area kya hota hai

सुपर बिल्ट-अप एरिया क्या होता है. (What is super built up area)

सुपर बिल्ट-अप एरिया = बिल्ट-अप एरिया + कॉमन एरिया (कॉरिडोर, लॉबी, लिफ्ट, सीढ़ि या सिक्योरिटी रूम आदि)।

super built up area in hindi

इसमें रूम और बालकनी के अलावे एंट्रेंस लॉबी, लिफ्ट या सीढ़ि, कॉरिडोर, सिक्योरिटी रूम जैसे सामूहिक जगह शामिल होते हैं। बिल्डर्स और प्रॉपर्टी डीलर्स आमतौर पर सुपर बिल्ट-अप एरिया के आधार पर ही घर की कीमत वसूल करना चाहते हैं।

Note : रेरा (RERA) के लागू होने के बाद, कारपेट एरिया की परिभाषा में कई बदलाव हुए हैं। इससे पहले, बरामदे और बालकनियों, दीवार की मोटाई, गार्डन क्षेत्र को भी कारपेट एरिया के अंतर्गत शामिल किया जाता था। इस कानून ने कारपेट एरिया के आधार पर बिल्डरों को अपार्टमेंट के आकार का खुलासा करना अनिवार्य किया है।

अगर आपके पास कोई प्रश्न है, तो निचे Comment करें। यदि आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं, तो इसे अपने दोस्तों के साथ Share करें।

संबंधित जानकारियाँ-




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ