Contractor Jee

A dedicated blog related to Construction

Check Bricks quality & test in hindi | ईंट की क्वालिटी ऐसे पहचाने!

कंस्ट्रक्शन के लिए अच्छी ईंटें की पहचान  | Various types of test to check Brick's quality & strength explained


ईंटों का उपयोग दीवारों, खम्भा, फ़ुटिंग्स और अन्य लोड बेअरिंग संरचनाओं के लिए किया जाता है। अच्छी गुणवत्ता वाली ईंटें संरचना को उचित ताकत प्रदान करती हैं। आजकल कई तरह के ईंटो का उपयोग किया जा रहा है, जैसे- सामान्य मिट्टी की ईंटें (Clay Brick), Fly ash brick (राख की ईंट), कंक्रीट ईंट (Concrete Bricks) आदि।

brick-quality-test-in-hindi

ईंटों की गुणवत्ता की जाँच बहुत महत्वपूर्ण है। यदि ईंट अच्छी गुणवत्ता का नहीं है, तो इमारत के लम्बे उम्र की गारंटी नहीं दी जा सकती है।

एक अच्छी मिट्टी की ईंट की विशेषताएं और पहचान - Clay Bricks quality test:


1. रंग (Color test): 

रंग में समान और चमकीले होने चाहिए। एक अच्छी ईंट को पूरे शरीर में उज्ज्वल और समान रंग का होना चाहिए।

2. पानी का अवशोषण (Absorption test): 

अत्यधिक परिस्थितियों में ईंट द्वारा अवशोषित नमी/पानी की मात्रा का पता लगाने के लिए ईंट पर अवशोषण टेस्ट किया जाता है। इस परीक्षण में, नमूना के तौर पर सूखी ईंट को लिया जाता है और तौला जाता है। वजन करने के बाद इन ईंट को 24 घंटे की अवधि के लिए पानी में रखा जाता है।

24 घंटे के लिए ठंडे पानी में डुबोने के बाद, सूखे और गीले ईंटों के बीच का अंतर जल अवशोषण की मात्रा देगा. पानी का अवशोषण 20 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए। इसका मतलब की अगर ईंट 1Kg का है तो डुबाने के बाद 1.2Kg से ज्यादा नही होना चाहिए।

3. कठोरता (Hardness Test):

ईंट को नाखून से रगड़ने से ईंट पर कोई प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए। इस टेस्ट में एक तेज उपकरण या उंगली के नाखून का उपयोग ईंट पर खरोंच बनाने के लिए किया जाता है। यदि ईंट पर खरोंच का निशान नहीं है, तो इसे हार्ड ईंट कहा जाता है।

4. कम्प्रेसिव ताकत (Crushing Strength test):

लोड वहन करने की ताकत यथासंभव अधिक होनी चाहिए। कठोर जमीन पर 1 मीटर ऊंचाई से गिराए जाने पर ईंट को नहीं टूटना चाहिए। 

Crushing Strength test

ईंटों की बल क्षमता, कम्प्रेशन मशीन में रखकर भी पता की जाती है। ईंट को मशीन में रखने के बाद, ईंट टूटने तक उस पर लोड लागू करें। जिस पॉइंट पे वह टूटे उस लोड के वैल्यू को नोट करें, जो की न्यूनतम 3.50 N/mm2 से अधिक होनी चाहिए। यदि यह 3.50 N/mm2 से कम है, तो यह निर्माण के लिए उपयोगी नहीं होगा।

5. आकार (Shape and Size Test):

वे कोड द्वारा निर्धारित मानक आकार के होने चाहिए। (ईंट का स्टैंडर्ड साइज लम्बाई, चौड़ाई व ऊंचाई क्रमश: 190, 90, 90 mm  होती है, 7.5, 3.5, 3.5 इंच में, लेकिन सामान्यत बाज़ार में मिलने वाली ईंट की लंबाई, चौड़ाई और ऊंचाई 9, 4, 3 इंच होती है।)


6. ध्वनि (Soundness test):

जब ईंट को हथौड़ा या किसी अन्य ईंट से मारा जाता है, तो उन्हें एक धात्विक ध्वनि (Metalic sound) देना चाहिए। इसमें, 2 ईंटों को लिया जाता है और एक दूसरे के साथ मारा जाता है। तब उत्पन्न ध्वनि स्पष्ट घंटी जैसी होनी चाहिए और ईंट नहीं टूटनी चाहिए। फिर कहा जाता है कि यह अच्छी ईंट है।

7. बनावट (Structure of brick):

ईंटें घनी, बनावट में एक समान और बिना किसी दरार के होनी चाहिए। ईंट की संरचना जानने के लिए, समूह में से एक ईंट को चुनें और उसे तोड़ दें। ईंट के आंतरिक भाग को स्पष्ट रूप से देखें जो की गांठ और वनस्पति से मुक्त होना चाहिए।

8. प्रस्फुटन (Efflorescence Test):

एक अच्छी गुणवत्ता वाली ईंट में कोई घुलनशील लवण/नमक नहीं होना चाहिए। एक ईंट में घुलनशील लवण की उपस्थिति जानने के लिए, इसे 24 घंटे के लिए पानी में रखा और इसे छाया में सुखाया जाता है। सुखाने के बाद, ईंट की सतह का अच्छी तरह से निरीक्षण करें। यदि कोई सफेद या ग्रे रंग जमा है, तो इसमें घुलनशील लवण होते हैं और निर्माण के लिए उपयोगी नहीं होते हैं।

ईंटों में क्षार, अतिरिक्त मैग्नेशिया और अतिरिक्त चूना जैसे हानिकारक तत्व हो सकते हैं। इन मूल्यों को जानने के लिए हमें प्रयोगशाला परीक्षण करने होंगे।

फ्लाई ऐश ईंटें वजन में हल्की होती हैं, मिट्टी की ईंट की तुलना में अधिक मजबूत होती हैं।

एक अच्छी फ्लाई ऐश/राख की ईंट की विशेषताएं और पहचान - Fly ash Bricks quality test:


1. कम्प्रेसिव ताकत (Crushing Strength test):

इन ईंटों की बल क्षमता, कम्प्रेशन मशीन में रखकर पता की जा सकती है। ईंट को मशीन में रखने के बाद, ईंट टूटने तक उस पर लोड लागू करें। जिस पॉइंट पे वह टूटे उस लोड के वैल्यू को नोट करें, जो की न्यूनतम 9 N/mm2 से अधिक होनी चाहिए।

2. पानी का अवशोषण (Absorption test):

सूखी फ्लाई ऐश ईंट पे यह टेस्ट करें तो इसमें पानी का अवशोषण 15 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए। इसका मतलब की अगर ईंट 1Kg का है तो डुबाने के बाद 1.15Kg से ज्यादा नही होना चाहिए।

1. प्रथम श्रेणी की ईंटों का उपयोग कहाँ किया जाता है?




... Answer is D)
प्रथम श्रेणी की ईंटें मजबूत, टिकाऊ और अच्छी होती हैं। इनका उपयोग महत्वपूर्ण, भार वहन कार्यों के लिए किया जाता है। फुटपाथ, फर्श, भार वहन करने वाली दीवार, खम्भे आदि।



2. 24 घंटे के लिए ठंडे पानी में डूबे रहने पर एक 1st क्लास ईंट को कितना से अधिक पानी अवशोषित नहीं करना चाहिए?




... Answer is B)
20%.



3. निम्नलिखित में से कौन सी सामग्री ईंट को उसके आकार को बनाए रखने में सक्षम बनाती है?




... Answer is C)
सिलिका.


अगर आपके पास कोई प्रश्न है, तो निचे Comment करें। यदि आप इस आवेदन को उपयोगी पाते हैं, तो इसे अपने दोस्तों के साथ Share करें।

संबंधित जानकारियाँ-

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ